विकिपीडिया:लेख टाइटिल

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

टाइटिल लेख के पहिचान हवे। विकिपीडिया लेख के टाइटिल चीन्हल-पहिचानल, आसानी से बुझाये वाला, पर्याप्त रूप से संछिप्त, तटस्थ आ अन्य संबंधित लेख सभ के साथ आ विकिपीडिया के अस्थापित परंपरा के साथे एकरूपता लिहले होखे के चाहीं। जहाँ एह सगरी चीज सभ के एक साथ रखे में कुछ दिक्कत होखे, भरसक बैलेंस बनावल जाय आ इनहन में से अधिकतम चीज के सामिल करे के कोसिस रहे के चाहीं।

लेख के टाइटिल पर बिचार करे लायक चीज[संपादन]

लेख के टाइटिल एह आधार पर होखे के चाहीं कि कइसे ई भोजपुरी में ओह बिसय के संबोधित कइल जा रहल बा; एकरा खाती भोजपुरी के लिखित संदर्भ आ सभ्य भोजपुरी के चलन के धियान में रखे के चाहीं। कई बेर अइसन हो सके ला कि कवनो बिसय के एक से बेसी तरह से टाइटिल लिखल जा सकत होखे या चलन में होखे, अइसन दसा में विकिपीडियन लोग तर्क आ बिबेक आधारित आपसी सहमती से टाइटिल बीछ सकत बा, मने की विकिपीडिया के आम सहमती वाला प्रक्रिया के पालन कइल जाए के चाहीं। बिबाद भा साफ़ आम सहमती न होखे पर ई निर्णय प्रबंधक के बिबेक पर अंतिम निर्णय खाती छोड़ल जा सके ला।

एगो बढ़ियां आ सटीक टाइटिल में नीचे दिहल चीज सभ के बीचा में बेहतरीन बैलेंस होखे के चाहीं:

  • चिन्हारू – टाइटिल जानल पहिचानल होखे, तुरंत बिसय के पता चल जाय।
  • तटस्थ – होखे, कौनों खास किसिम के बायस भा झुकाव न लिहले होखे।
  • सटीक – होखे ताकि निर्बिबाद रूप से लेख के बिसय के चीन्हल जा सके आ अउरी मिलत-जुलत बिसय से बिलग पहिचान सहजता से हो जाय।
  • संछेप – में होखे, बेमतलब लमहर न बनावल जाय बलुक बाकी चीज के धियान में रखते समय छोट-से-छोट संभव टाइटिल बीछल जाय।
  • एकरूपता – बाकी के बिसय आ अन्य टाइटिल के साथे एकरूपता रखत होखे; कंसिस्टेंट होखे।

ऊपर दिहल ई लच्छन नियम ना हवें बलुक एक तरह से हासिल करे लायक लक्ष्य हवें। इनहन में आपसी बैलेंस के कोसिस रहे के चाहीं। जरूरत पड़े पर अनुप्रेषण बनावल जा सके लें।

आम चलन के नाँव[संपादन]

विकिपीडिया के लेख आ टाइटिल आम प्राकृतिक भाषा में रखल जाए के चाहीं आ सभसे ऊपर एह मामिला में आम चलन के दिहल जाए के चाहीं। इहो धियान देवे के बात बा कि विकिपीडिया कौनों "ऑफिशियल नाँव" के जरूरी तौर पर इस्तेमाल करे अइसन ना बा बलुक सभसे चलनसार नाँव के सभसे ढेर वरीयता दिहल जाला (जइसन कि बिस्वास जोग, तिसरहा पार्टी के संदर्भ सभ में इस्तेमाल होखत होखे; या आम सभ्य भोजपुरी समाज में चलन में होखे)। हालाँकि, कबो अइसन हो सके ला कि एकही बिसय खाती कई गो नाँव बरोबर चलन में होखें चाहे एकही नाँव के कई गो बिसय होखें आ ई तय कइल मुश्किल हो जाय कि कवन नाँव निर्बिबाद रूप से बेसी चलन में बा चाहे कौनों नाँव कवना बिसय से मुख्य रूप से संबंधित बा। एह दसा में विकिपीडिया के आम सहमती के प्रक्रिया के पालन कइल जाए के चाहीं आ तबो निर्णय न हो पावे पर प्रबंधक के बिबेक पर छोड़ दिहल जाए के चाहीं।

नीचे कुछ उदाहरण दिहल गइल बाड़ें:

लोग
जगह
  • यूनाइटेड किंगडम (न कि यूनाइटेड किंगडम ऑफ़ ग्रेट ब्रिटेन एंड नदर्न आयरलैंड)
  • अमेरिका (न कि यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका या संयुक्त राज्य अमेरिका)
  • गाजीपुर (न कि ग़ाज़ीपुर)

भोजपुरी भाषा में होखे[संपादन]

ई विकिपीडिया के भोजपुरी संस्करण हवे जेकर भाषा भोजपुरी बा आ लिखाई (लिपि) देवनागरी आ अंक के इस्तेमाल इंटरनेशनल (1,2,3...), एही कारण लेख सभ के टाइटिल, जहाँ तक संभव होखे, भोजपुरी भाषा में आ देवनागरी लिखाई में होखे के चाहीं आ अंक इंटरनेशनल सिस्टम में लिखल जाए के चाहीं।

इहाँ धियान देवे वाली बात ई बा कि भोजपुरी भाषा में कइयन भाषा सभ से शब्द आइल बाड़ें आ एह में सामिल भ गइल बाड़ें; कुछ के एह प्रक्रिया में उच्चारणो बदल गइल बा आ उनहन के बकायदे भोजपुरीकरण हो गइल बा जबकि कुछ अपना मूल उच्चारण में भा लगभग मूल उच्चारण में सभ्य भोजपुरिया समाज में बोलल जालें। अइसन बाहरी भाषा सभ के शब्द सभ के भोजपुरिये के मानल जाए के चाहीं अगर उनहन के आम बोलचाल में भोजपुरिहा लोग इस्तमाल करत होखे, भले ओह शब्द के मूल उत्पत्ती कौनों अउरी भाषा के होखे।

ऊपर बताव आम चलन के नाँव के पैमाना अनुसार, ऑफिशियल नाँव चाहे मानक हिंदी नाँव के रखे के कौनों बाध्यता ना बा। बस ई देखल जाए के चाहीं कि भोजपुरी में ई कवना रूप में बेहवार में बा; अगर भोजपुरी में कवनो बिदेसी शब्द खाती कवनो खास शब्द भा अनुबाद स्वाभाविक चलन में न होखे, नीचे बतावल बिदेसी नाँव संबंधी पैमाना अनुसार उनहन के देवनागरी लिखाई में लिखल जा सके ला।

लिखाई संबंधी चीज[संपादन]

भोजपुरी भाषा के देवनागरी लिखाई में लिखल जाला। हालाँकि, सगरी देवनागरी अच्छर सभ के इस्तेमाल भी जरूरी ना बाटे आ कुछ बिस्तारित देवनागरी करेक्टर सभ के इस्तेमाल भी कइल जा सके ला। नीचे दिहल बात एह मामिला में धियान में रखीं, जब लेख के टाइटिल रखे के होखे:

  • मूल देवनागरी अच्छर के इस्तेमाल से अगर शब्द भोजपुरी में चलन में होखें उनहन के इस्तेमाल कइल जाय।
  • नुक्ता के इस्तेमाल लोग के नाँव में कइल जाय अगर नाँव उर्दू, फ़ारसी नियर भाषा सभ के होखे, भले नाँव चलन में बिना नुक्तो के उच्चारण में होखे। (उदाहरण खाती मिर्जा ग़ालिब न कि मिर्जा गालिब)
  • जगह के नाँव में, भले शुद्ध नाँव में नुक्ता होखे, अगर भोजपुरी समाज में नाँव बिना नुक्ता के उच्चारण कइल जात बा तब ओकरा के बिना नुक्ता के लिखल जाय। (उदाहरण: आजमगढ़ न की आज़मगढ़, गाजीपुर न कि ग़ाज़ीपुर) अगर भारतीय उपमहादीप से बहरें के जगह के नाँव होखे आ भोजपुरी में ओकर बिना नुक्ता वाला उच्चारण चलन में न होखे तब नुक्ता के जरूर इस्तेमाल कइल जाय। अंगरेजी आ अउरी दूसर भाषा सभ के नाँव, जेह में उच्चारण के सुद्धता देखावे बदे नुक्ता के इस्तेमाल जरूरी होखे आ ओह शब्द के बिना नुक्ता वाला उच्चारण पहिलहीं भोजपुरी में चलन में न होखे तब्बो नुक्ता के इस्तेमाल कइल जाय।
  • पंचमाक्षर के इस्तेमाल भोजपुरी विकिपीडिया पर करे के जरूरत ना बा। अइसन सभ जगह पर अं के मात्रा (मने की ऊपर बिंदी) के इस्तेमाल कइल जाय। अपवाद के रूप में कुछ जगह बिदेसी शब्द के उच्चारण साफ समुझावे बदे न् के इस्तेमाल कइल जा सकत बा, बाकी कौनों पंचमाक्षर के इस्तेमाल न कइल जाय।
  • उच्चारण साफ समझावे खातिर ॅ या ऑ के इस्तेमाल टाइटिल में कइल जा सके ला अगर बिदेसी शब्द होखे; हालाँकि अगर इनहन के बिना ओह शब्द के चलन भोजपुरी में पहिले से बा तब एह शुद्धता के जरूरत ना बाटे। (उदाहरण खाती आस्ट्रेलिया न कि ऑस्ट्रेलिया; जबकि ऑस्ट्रिया लिखल जा सकत बा न कि आस्ट्रिया)
  • ङ के उच्चारण भोजपुरी में आम बात बा बाकी लिखाई में ई आ ञ आ ण के इस्तेमाल बहुत चलनसार ना बा; इनहन के इस्तेमाल न कइल जाय। अं के मात्रा या ग (जइसे गंगामंगर लिखे में बेसी चलन में बा; इनहने के इस्तेमाल कइल जाय।
  • टाइटिल में कौनों अइसन चीन्हा के भरसक न इस्तेमाल कइल जाय जे कीबोर्ड पर टाइप करे आ आम जनता द्वारा सर्च करे में इस्तेमाल न होखत होखे।
  • ठीक ऊपर वाला प्वाइंट अनुसार "लाघव चीन्हा" (॰) के इस्तेमाल टाइटिल में न कइल जाय बलुक चलन अनुसार एकरे जगह डॉट (.) के इस्तेमाल कइल जाय।