रबींद्रनाथ टैगोर

विकिपीडिया से
(रबीन्द्रनाथ ठाकुर से अनुप्रेषित)
सीधे इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं
रबीन्द्रनाथ ठाकुर
Late-middle-aged bearded man in white robes looks to the left with serene composure.
टैगोर (c.1915)
मूलभाषा में नाँव রবীন্দ্রনাথ ঠাকুর
जनम Rabindranath Thakur
07 मई 1861
कलकत्ता, बंगाल प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत
निधन 7 अगस्त 1941(1941-08-07) (उमिर 80)
कलकत्ता
पेशा लेखक, चित्रकार, संगीतकार
भाषा बंगाली, अंगरेजी
जातीयता बंगाली
प्रमुख रचनासभ गीतांजली, गोरा, घरे-बाहिरे, जन गण मन, रबीन्द्र संगीत, आमार सोनार बांग्ला
प्रमुख पुरस्कार साहित्य के नोबल पुरस्कार
1913
जीवनसाथी मृणालिनी देवी (m. 1883–1902)
संतान पाँच गो संतान, दू के बचपन में मउत हो गइल

दसखत Close-up on a Bengali word handwritten with angular, jaunty letters.

रबीन्द्रनाथ ठाकुर (बंगाली: রবীন্দ্রনাথ ঠাকুর, रोबिन्द्रोनाथ ठाकुर) (7 मई, 1861 – 7 अगस्त, 1941) के रबीन्द्रनाथ टैगोर आऊर गुरुदेव के नाम से भी जानल जाला। टैगोर दुनिया क जानल मानल कवि, साहित्यकार, दार्शनिक आ भारतीय साहित्य क एकमात्र नोबल पुरस्कार विजेता हउवन। ई एशिया के पहिला नोबेल पुरस्कार सम्मानित व्यक्ति बाटें। ई एकमात्र कवि बाटें जिनकर दू रचना दू गो देशन क राष्ट्रगान बा। भारत क राष्ट्र-गान जन गण मन आऊर बाँग्लादेश क राष्ट्रीय गान आमार सोनार बाँग्ला टैगोर क ही रचना बाड़ीं।

संदर्भ[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]