रबींद्रनाथ टैगोर

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रबीन्द्रनाथ ठाकुर
Late-middle-aged bearded man in white robes looks to the left with serene composure.
टैगोर (c.1915)
मूलभाषा में রবীন্দ্রনাথ ঠাকুর
जनम Rabindranath Thakur
(1861-05-07)7 मई 1861
कलकत्ता, बंगाल प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत
निधन 7 अगस्त 1941(1941-08-07) (उमिर 80)
कलकत्ता
पेशा लेखक, चित्रकार, संगीतकार
भाषा बंगाली, अंगरेजी
प्रमुख रचनासभ गीतांजली, गोरा, घरे-बाहिरे, जन गण मन, रबीन्द्र संगीत, आमार सोनार बांग्ला
प्रमुख पुरस्कार साहित्य के नोबल पुरस्कार
1913
जीवनसाथी मृणालिनी देवी (m. 1883–1902)
संतान पाँच गो संतान, दू के बचपन में मउत हो गइल

दसखत Close-up on a Bengali word handwritten with angular, jaunty letters.

रबीन्द्रनाथ ठाकुर (बंगाली: রবীন্দ্রনাথ ঠাকুর, रोबिन्द्रोनाथ ठाकुर) (7 मई, 1861 – 7 अगस्त, 1941) के रबीन्द्रनाथ टैगोर आऊर गुरुदेव के नाम से भी जानल जाला। टैगोर दुनिया क जानल मानल कवि, साहित्यकार, दार्शनिक आ भारतीय साहित्य क एकमात्र नोबल पुरस्कार विजेता हउवन। ई एशिया के पहिला नोबेल पुरस्कार सम्मानित व्यक्ति बाटें। ई एकमात्र कवि बाटें जिनकर दू रचना दू गो देशन क राष्ट्रगान बा। भारत क राष्ट्र-गान जन गण मन आऊर बाँग्लादेश क राष्ट्रीय गान आमार सोनार बाँग्ला टैगोर क ही रचना बाड़ीं।

संदर्भ[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]