भारत के इतिहास

भोजपुरी विकिपीडिया से
इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं

ई लेख भारत आ आसपास की क्षेत्र की इतिहास खातिर बाटे। आजादी की बाद भारत गणतन्त्र की इतिहास खातिर देखल जाय: भारत गणतन्त्र क इतिहास

भारत क इतिहास कम से कम 75,000 बरिस पहिले से शुरू होला जबसे इहँवा होमो सैपियंस मानव कि रहल क परमान मिले शुरू होला आ एहू से पहिले लगभग 5,00,000 साल पहिले से जब से होमो इरेक्टस मानव का प्रमाण मिले लागे ला।[1]

सिन्धु घाटी सभ्यता क समय ई॰ पू॰ 3300 से 1300 ई॰ पू॰ ले मानल जाला जेवन आज की पाकिस्तान आ भारत की हिस्सा में सिन्धु घाटी की सहारे विकसित भइल रहे। एकरी बाद क्रम से वैदिक सभ्यता आ महाजनपद काल आवेला। भगवान बुद्ध क जनम महाजनपद काल में छठवी सदी ई॰ पू॰ में भइल रहे जब मगध साम्राज्यकोसल राज्य रहे।

चौथी सदी से तिसरी सदी ई॰ पू॰ की समय में भारत की अधिकतर इलाका पर मौर्य साम्राज्य क अधिकार भइल। मौर्य साम्राज्य की पतन की बाद काई गो छोट-छोट राजा अलग अलग हिस्सा पर राज्य कइलें आ फिर भारत की बड़हन हिस्सा पर गुप्त साम्राज्य अस्थापित भइला ले इहे स्थिति रहे। गुप्त काल के भारत क स्वर्ण युग कहल जाला। एही समय में भारत में वर्तमान रूप में हिन्दू धर्म क प्रतिष्ठा भइल। सातवीं से इगारहवीं सदी ईस्वी में पाल, राष्ट्रकूट आ गुर्जर प्रतिहार शासकन की बीच में शक्ति संघर्ष भइल रहे।

मुस्लिम शासन का शुरुआत 1206 ई॰ में शुरू भइल जब दिल्ली सल्तनत क अस्थापना भइल। सन् 1857 ई॰ में भारत की पहिला स्वतंत्रता संघर्ष की बाद भारत क शासन ब्रिटिश ताज की अन्दर आ गइल।

संदर्भ[संपादन]

  1. G. Bongard-Levin, A History of India (Progress Publishers: Moscow, 1979) p. 11.