नेट न्यूट्रैलिटी

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नेट न्यूट्रैलिटी भा इंटरनेट न्यूट्रैलिटी अइसन सिद्धांत ह जेकरे तहत मानल जाला कि इंटरनेट सर्विस प्रदान करने वाली कंपनी सभ इंटरनेट पर हर तरह के डेटा के एक नियर दर्जा दिहें सऽ।[1] यानी कि ई एक तरह से इंटरनेट यूजर लोग खाती के लिए बरोबर स्पीड आ बराबर कीमत पर इंटरनेट उपलब्ध करावे के बिचार हवे आ अइसन सिद्धांत हवे जेकरे अनुसार इंटरनेट सेवादाता (सर्विस प्रोवाइडर) सब के सभका साथे बराबरी के बेहवार करे के होला, यानी कि इंटरनेट के सेवा देवे में ऊ कौनों वेबसाइट, सुबिधा, प्लेटफार्म, एप भा सामग्री खाती कवनों किसिम के बिभेद ना क सके ला। एकर मतलब ई भइल कि इंटरनेट सेवादाता कौनों वेबसाइट, एप भा सामग्री के जानबूझ के स्लो ना क सके ला, ब्लॉक ना क सके ला या फिर केहू से एक्स्ट्रा दाम ना वसूल सके ला।

इहो देखल जाय[संपादन]

संदर्भ[संपादन]

  1. "नेट न्यूट्रैलिटी न हो तो आप पर होगा क्या असर?". bbc.com/hindi (Hindi में). बीबीसी. 15 दिसंबर 2017. पहुँचतिथी 19 दिसंबर 2017.