एस्थेनोस्फीयर

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

एस्थेनोस्फीयर पृथ्वी के अंदरूनी हिस्सा में ऊपरी मैंटल के एगो भाग हवे जहाँ चट्टानी पदार्थ सभ बहुत विस्कासिटी वाला, मैकेनिकली कमजोर आ डक्टाइल होला। एकरे ठीक ऊपर के हिस्सा के थलमंडल के रूप में परिभाषित कइल जाला। ई मंडल पृथ्वी के सतह से लगभग 80 से 200 किलोमीटर के गहिराई पर मौजूद बाटे। आमतौर पर एस्थेनोस्फियर ठोस रूप में बाटे बाकी एकर कुछ स्थानीय हिस्सा पघिलाव वाला भी हो सके लें (उदाहरण खातिर बीच-समुंद्री-रिज सभ के नीचे)।