एस्टेरॉइड्स

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
करिया बैकग्राउंड में एगो सलेटी रंग के टेढ़-टाढ गोला जे पाथर नियर लउकत बा
एगो एस्टेरॉइड "253 Mathilde", एगो C-टाइप क एस्टेरॉइड

एस्टेरॉइड हमनी के सौरमंडल के अंदरूनी हिस्सा में मौजूद बहुत छोटहन आकार के ग्रह हवें सऽ आ ई मंगल ग्रहबृहस्पति ग्रह की बिचा में पावल जाए वाला चट्टानी पिंड हवें स जेवन एक ठो पेटी की रूप में बाड़न स। हिंदी में इन्हन के क्षुद्रग्रह कहल जाला जबकि अंगरेजी में एस्टेरॉइड्स के अलावे इनहन के प्लेनेटॉइड्स भी कहल जाला। मंगल आ बृहस्पति के बीचा के ई इलाका एस्टेरॉइड बेल्ट चाहे एस्टेरॉइड पेटी कहाला। परंपरागत रूप से पुराना जमाना से एस्टेरॉइड्स चाहे प्लेनेटॉइड्स सभ अइसन पिंड सभ के नाँव दिहल गइल जे सुरुज के चक्कर लगावे लें बाकी ग्रह के नियर स्पष्ट गोलाई के आकृति ना होला आ इनहन के पुच्छल तारा नियर स्पष्ट बिसेस्ता भी ना होला, जइसे कि पोंछ। कुछ एस्टेरॉइड सभ के परिकरमा के रास्ता बहुत ढेर चापट भी होला।

एस्टेरॉइड के खोज सन 1801 में इटली के रहे वाला ज्यूसिप्पी पियाज्जी (Giuseppe Piazzi) कइलेन जे पादरी आ खगोलशास्त्री रहलें। पियाज्जी द्वारा खोजल गइल एस्टेरॉइड के बौना ग्रह के श्रेणी में रखल जाला आ एकरा के आजकाल सिरिस के नाँव से जानल जाला जे सभसे बड़हन साइज के एस्टेरॉइड भी हवे। हालाँकि, जवना समय एकर खोज भइल एकरा के एगो छोट ग्रह बूझल गइल। बाद में जब अइसन छोट-छोट बहुत सारा पिंड सभ के खोज भ गइल तब विलियम हर्शेल एह सभ के "एस्टेरॉइड" नाँव दिहलें।

अपना खास सतह, जे चमकदार हवे, के कारण "फोर वेस्टा" (4Vesta) एकलौता अइसन एस्टेरॉइड बा जेकरा के हमनी के धरती पर से बिना दूरबीनो के देख सकीं लें, हालाँकि एकरा खाती एकदम साफ़ आकास चाहे ला आ ई खास सतह धरती के ओर मुँह कइले होखे इहो जरूरी होला। एकरे अलावे एगो अउरी एस्टेरॉइड उल्लेखजोग बा जेकर नाँव इरोस (Eros) हवे, काहें से कि ई एकलौता अइसन एस्टेरॉइड बा जेह पर मनुष्य के बनावल अंतरिक्ष यान (नियर शूमेकर (NEAR-shoemaker)) उतर चुकल बा।

गैलरी[संपादन]

इहो देखल जाय[संपादन]

संदर्भ[संपादन]