शतरंज

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
शुरुआती मौका पर एगो शतरंज के सेट। खेल में घड़ी के प्रयोग होला। दुनो खेलाड़ी के पास खेल पूरा करे खातिर बराबर समय होखेला, जेमें खेलाड़ी लोग निर्णय करेला कि कइसे निमन खेल खेल के जीत हासिल करल जाव।

शतरंज चाहे चेस (Chess) एक किसिम के बोर्ड गेम ह जे में एक साथ दुगो खेलाड़ी लोग खेल खेलेला।[1] ई एक प्रकार के वर्गाकार बोर्ड, जे आमतौर पर लकड़ी के बनल होला, पर खेलल जाला, जेमें छोट-छोट 64गो खाना (8x8) बनल रहेला। दुनो खेलाड़ी सोलह-सोलह गो गोटी के साथ खेल शुरु करेलन। जे में गोटी रहेला: आठगो सिपाही, दुगो घोड़ा, दुगो ऊँट, दुगो हाथी, आ एगो राजा आ एगो मंत्री[2]

खेल के लक्ष्य होला कि कौनो एगो खेलाड़ी कौनो दुसरा प्रतिद्वन्दी खेलाड़ी के राजा के चेकमेट (मात) करे के कोशिश करे। चेकमेट एक प्रकार के धमकी ह ('चेक' चाहे 'शह') जौन प्रतिद्वन्दी खेलाड़ी के राजा के करल जाला जब प्रतिद्वन्दी खेलाड़ी के राजा मुकाबला कर सके के स्थिती में ना होखे। जब राजा फँस जाई त खेल खत्म हो जाई।[3]

खेल दुगो प्रतिद्वन्दी खेलाड़ी के बीच शुरु होला जेमें खेलाड़ी एक एक कर के आपन गोटी शतरंज के बोर्ड पर अलग अलग वर्ग में आगे बढ़ावेला। एगो खेलाड़ी ('उज्जर') के पास उज्जर या हल्का रंग के गोटी होला; दुसरका खेलाड़ी ('करिया') के पास करिया या गाढ़ा रंग के गोटी होला। खेल में हर गोटी के आगे बढ़ावे के आ दुसरा गोटी के पिटे के नियम कानून होला।

चेस एगो विश्व विख्यात खेल ह जौन कई बार प्रतियोगिता के तौर पर होखेला जे के शतरंज प्रतियोगिता कहल जाला। बहुते देश में लोग ई खेल के मजा लेवेला आ ई रुस देश के एगो महत्वपूर्ण राष्ट्रिय शौक ह [4]

नियम[संपादन]

चेस के नियम सभ के प्रकाशन फिडे (FIDE - Fédération Internationale des Échecs) करे ला। ई एह नियम सभ के हैंडबुक छापे ला। अन्य देस में कुछ मामूली अंतर वाला नियाम भी हो सके लें बाकी अंतर्राष्ट्रीय नियम इनहने के मानल जाला जे फिडे द्वारा छापल जालें। सभसे हाल में इनहन के 2018 में अपडेट कइल गइल।

सेटअप[संपादन]

abcdefgh
8
Chessboard480.svg
a8 काला हाथी
b8 काला घोड़ा
c8 काला ऊँट
d8 काला वजीर
e8 काला राजा
f8 काला ऊँट
g8 काला घोड़ा
h8 काला हाथी
a7 काला प्यादा
b7 काला प्यादा
c7 काला प्यादा
d7 काला प्यादा
e7 काला प्यादा
f7 काला प्यादा
g7 काला प्यादा
h7 काला प्यादा
a2 सफेद प्यादा
b2 सफेद प्यादा
c2 सफेद प्यादा
d2 सफेद प्यादा
e2 सफेद प्यादा
f2 सफेद प्यादा
g2 सफेद प्यादा
h2 सफेद प्यादा
a1 सफेद हाथी
b1 सफेद घोड़ा
c1 सफेद ऊँट
d1 सफेद वजीर
e1 सफेद राजा
f1 सफेद ऊँट
g1 सफेद घोड़ा
h1 सफेद हाथी
8
77
66
55
44
33
22
11
abcdefgh
शुरुआती पोजीशन, पहिली (नीचे) के कतार: हाथी, घोड़ा, ऊँट, वजीर, राजा, ऊँट, घोड़ा, आ हाथी; दुसरी कतार: प्यादा
चेस के खेल के शुरु होखे घरी सेटअप

परंपरा अनुसार शतरंज के गोटी सभ, जिनहन के मोहरा कहल जाला, करिया आ सफेद सेट में बँटल होखे लें। हर सेट में 16 मोहरा होखे लें: एगो राजा, एक ठो वजीर, दू गो हाथी, दू गो ऊँट, दू गो घोड़ा, आ आठ गो प्यादा। इनहन के सुरुआती सजावट चित्र में आ डाइग्राम में देखावल गइल बा। जे खेलाड़ी जवना रंग के गोटी से खेले ला ओकरा के सफेदकाला खेलाड़ी कहल जाला।

शतरंज जवना बोर्ड पर खेलल जाला ओह में कुल 64 खाना होखे लें। बेंड़ी-बेंड़ा आठ गो के रैंक कहल जाला आ इनहन के नंबरिंग 1 से 8 तक होखे ले (नीचे, मने की सफेद वाला की ओर से) आ खड़ा-खाड़ी आठ गो के फ़ाइल कहल जाला जिनहन के बाएँ से दाहिने (सफेद के हिसाबन) a से h ले नाँव दिहल जाला। ई 64 खाना अगल-बगल हल्का (सफेद) आ डार्क (करिया) रंग के होखे लें। बोर्ड के एह तरीका से रखल जाला कि खेलाड़ी के दहिने ओर सबसे निचला खाना सफेद रंग के पड़े। दुनों वजीर अपना-अपना रंग के खाना में रखल जालें, राजा वजीर के बगल में, एकरे बाद इनहन के दुनों ओर ऊँट, फिर दुनों ओर घोड़ा आ सभसे किनारे दुनों ओर हाथी रखालें। इनहन के साम्हने आठ गो प्यादा (सैनिक) रखल जालें। खेल के शुरुआत सफेद खेलाड़ी करे ला।

मोहरा आ चाल[संपादन]

सगरी मोहरा सभ के अलग-अलग किसिम के चाल होला। डाइग्राम में एकरा के देखावल गइल बा, मोहरा ओह जगह पर चल सके ला जहाँ जहाँ बिंदी लगा के देखावल गइल बाटे अगर बीचा में कौनों दूसर गोटी ना होखे; हालाँकि, घोड़ा कूद के चले ला आ बीचा में कौनों दूसर मोहरा होखे तबो घोड़ा बिंदी वाली जगह पर चल सके ला।

  • राजा कौनों भी दिसा में एक घर चल सके ला। एकरे अलावा राजा के एगो इस्पेशल चाल भी होले जेकरा के किलेबंदी (अंगरेजी में कैसलिंग) कहल जाला, एह में हाथी भी चले ला।
  • हाथी के सीधा चाल होले। मतलब की ऊ कौनों एगो फाइल भा रैंक में केतनों घर चल सके ला बशर्ते की बीचा में कौनों दूसर गोटी न होखे। राजा के कैसलिंग वाली चाल में हाथी भी चले ला।
  • ऊँट ऊँट तिरछा (डाइगोनल) चले ला आ एह तरीका से केतनों घर चल सके ला बाकी कौनों गोटी के ऊपर से कूद के ना जा सके ला।
  • वजीर हाथी आ ऊँट दुनों के चाल चल सके ला। मने की सीधा-सीधा फाइल, रैंक या डाइगोनल में केतनों घर चल सके ला बाक़ी कौनों गोटी के ऊपर से ना फलांग सके ला।
  • घोड़ा सभसे नजदीकी खाना में चले ला जे ओही फाइल, रैंक भा डाइगोनल में न होखे। एकरा के अढ़ाई घर के चाल भी कहल जाला, यानी एक घर तिरछा चल के फिर एक घर सीधा।
  • प्यादा अपनी फाइल में साम्हने की ओर सीधा एक घर चले ला बशर्ते की ऊ घर खाली होखे, पहिली चाल में दू घर भी चल सके ला बशर्ते की दुनों खाना खाली होखे। (काली बिंदी); एकरे अलावा प्यादा सामने की ओर एक घर आगे के तिरछा खाना (करिया "x" से देखावल बा) में मौजूद बिरोधी के गोटी के मार सके ला। इस्पेशल चाल the एन पासंट के रूप में मारल आ जिंदा कइल होला

किलेबंदी[संपादन]

किलेबंदी के उदाहरण (एनीमेशन देखल जाय)

खेल में एक बेर, राजा एगो इस्पेशल चाल चल सके ला जेकरा के किलेबंदी भा कैसलिंग के नाँव से जानल जाला। एह चाल में राजा अपना रैंक में, अपने ठीक बगल वाला खाना के फलांग के अगिला खाना में चल जाला आ जवना खाना के ऊ फलांगे ला ओह खाना में ओह साइड वाला हाथी आ के रखा जाला।

कैसलिंग नीचे दिहल गइल शर्त के मोताबिक होला:[5]

  • राजा आ ऊ हाथी जेकरा साथे कैसलिंग हो रहल होखे अपना जगह से पहिले न चलल होखें
  • उनहन के बीचा में कवनों अउरी दूसर मोहरा न होखे
  • राजा पर शह (चेक) न पड़ रहल होखे, जवना खाना के ऊ फलांगे ओह पर बिरोधी गोटी के हमला न हो रहल होखे, आ राजा जहाँ पहुँची उहाँ चेक न पड़े (हाथी पर अटैक हो रहल होखे भा हाथी अइसन खाना के पार करे जेकरा पर अटैक हो रहल होखे तब ई चाल चले पर रोक ना होला।

कई बेर ई मान लिहल जाला की राजा पर पहिले चेक ना पड़ल होखे के चाहीं। हालाँकि अइसन ना बा चेक पड़ल होखे आ राजा के चलले बिना कौनों दूसर तरीका से चेक बचा लिहल गइल होखे तब्बो कैसलिंग कइल जा सके ला।

अँपासाँ[संपादन]

Examples of pawn moves:
(बाएँ) परमोशन; (दहिने) अँपासाँ

जब प्यादा आपन दू घर वाली चाल चले आ बिरोधी प्यादा ओकरे पहुँचे वाली जगह के ठीक बगल में मौजूद होखे, बिरोधी प्यादा दू घर चले वाला प्यादा के मार सके ला आ ओह खाना में जा के रखा जाला जहाँ ऊ तब रखाइत जब प्यादा आपन दू घर के चाल चले के बजाय एक घर चलल रहित तब पहुँचत। एह नियम के मकसद ई हवे कि प्यादा दू घर चल के बिरोधी के प्यादा के वार से आपन बचाव न करे। ई चाल फ्रांसीसी खोज हवे एही से एकर नाँव फ्रेंच भाषा में अँपासाँ (en passant) हवे जेकर मतलब हवे गुजरत समय ("in passing")। ई चाल के शर्त हवे की प्यादा के दू घर चले के बाद ठीक अगिली चाल में ई चाल चलल जा सके ला, अगर कौनों दूसर चाल चल दिहल गइल तब फिर ओह दू घर चले वाला प्यादा के एह तरीका से ना मारल जा सके ला। उदाहरण खाती डाइग्राम देखल जा सके ला, एनीमेशन में देखावल बा की करिया प्यादा दू घर चल रहल बा g7 से g5 आ सफेद प्यादा जे f5 खाना में बा ओकरा के अँपासाँ के चाल से मार के g6 पर पहुँच जा रहल बा (बाकी ई सफेद के ठीक अगिली चाल होखे)।

परमोशन[संपादन]

जब प्यादा आठवाँ रैंक पर पहुँच जाला, मने कि अब ओकरा के चले के अउरी जगह ना रह जाला काहें की ऊ सीधा चले ला, ओकर परमोशन हो जाला आ ओकरे जगह पर खेलाड़ी के चुनाव अनुसार वजीर, हाथी, ऊँट भा घोड़ा में से कवनों एगो गोटी रखा जाले। एकरा के गोटी जिंदा कइल भी कहल जाला। चूँकि, खेलाड़ी के पसंद एह दसा में वजीर (अंगरेजी में रानी) के जिंदा करावे के ज्यादा होखे ले, एकरा के क्वीनींग भी कहल जाला। एह में इहो कौनों प्रतिबन्ध ना होला कि पहिले से बोर्ड पर कवन कवन गोटी बा (मतलब कि दू या दू से बेसी वजीर भी हो सके लें)।

शह[संपादन]

abcdefgh
8
Chessboard480.svg
c6 काला राजा
c2 सफेद हाथी
e1 सफेद राजा
8
77
66
55
44
33
22
11
abcdefgh
काला राजा पर हाथी से चेक पड़ रहल बाटे

जब राजा पर बिरोधी खेलाड़ी के एक ठो भा दू ठो गोटी के वार पड़ रहल होखे, एकरा के शह भा चेक कहल जाला। चेक पड़े के दसा में खाली उहे चाल उचित मानल जाला जेकरे चलते राजा पर से चेक हट जाय आ राजा बच जाय। चेक से बचाव के तीन गो तरीका हो सके ला: चेक जवना गोटी से पड़ रहल होखे ओकरा के मार दिहल जाय; बीचा में आपन कौनों दूसर गोटी खड़ा क दिहल जाय (ई घोड़ा से पड़े वाला चेक में ना काम करे ला), या फिर राजा के अइसन खाना में चलल जाय जहाँ चेक न पड़ रहल होखे। चेक के दसा में कैसलिंग ना कइल जा सके ला।

खेल के मकसद बिरोधी खेलाड़ी के मात दिहल (चेकमेट) होला, मने की अइसन दसा जबकी चेक से बचाव के कवनों गुंजाइश बिरोधी के लगे न बचे। अइसन चाल कबो बैध ना मानल जाले जवना के चले से आपन खुदे के राजा पर चेक पड़े लागे।

आमतौर पर चेक देवे के बाद लोग "चेक" (या "शह") बोल के बतावे ला, हालाँकि नियम के मोताबिक अइसन कइल कवनों जरूरी ना होला। टूर्नामेंट में आमतौर पर ई काम ना कइल जाला।

खेल के अंत[संपादन]

जीत[संपादन]

abcdefgh
8
Chessboard480.svg
e3 काला ऊँट
f3 काला ऊँट
h3 काला राजा
h1 सफेद राजा
8
77
66
55
44
33
22
11
abcdefgh
सफेद के मात हो गइल बा काहें की चेक से बचाव के कवनों रस्ता ना बचल बा

शतरंज के खेल में नीचे दिहल तरीका सभ से जीत हो सके ला:

  • मात (चेकमेट): जवना खेलाड़ी के चाल होखे ओकरे राजा पर चेक पड़ रहल होखे आ कवनों बैध चाल न बचल होखे कि चेक से बचाव हो सके।
  • समर्पण: दुनों में से कवनों खेलाड़ी समर्पण (रिजाइन) क सके ला आ बिरोधी के जीतल घोषित क सके ला।[6] जब खुद बुझा जाय कि बहुत खराब स्थिति बा आ गेम जीते के संभावना नइखे, तबो खेलत रहल कवनों नीक बेहवार ना मानल जाला। एही कारण हाई-लेवल के गेम सभ बहुत कम्मे चेकमेट के साथे खतम होखे लें।
  • समय अनुसार जीत: जब समय बान्ह के खेल होला, खेलाड़ी जीत जाला अगर बिरोधी खेलाड़ी अपना समय में निश्चित चाल न चल पावे।
  • दंड (फोरफ़ेट): चीटिंग करे वाला, नियम के उलंघन करे वाला, ओह टूर्नामेंट के नियम के उलंघन करे वाला, खेलाड़ी के बाहर कइल जा सकत बा। हाई लेवल गेम में खेलाड़ी के नीचे दिहल कुछ कारण से भी दंडित कइल जा सके ला:
    • खेल खातिर देरी से पहुँचल (भले कुछ सेकेंड के देरी होखे);
    • मोबाइल पर फोन भा मैसेज रिसीव कइल;
    • ड्रग टेस्ट से इनकार कइल;
    • इलेक्ट्रानिक यंत्र इत्यादि खाती शरीर के जाँच से मना कइल;
    • गैर-सपोर्टिव बेहवार (उदाहरण खाती बिपक्षी खेलाड़ी से हाथ मिलावे से मना कइल)।

ड्रा[संपादन]

abcdefgh
8
Chessboard480.svg
c6 सफेद वजीर
a5 काला राजा
c4 सफेद राजा
8
77
66
55
44
33
22
11
abcdefgh
काला पर कवनों चेक ना बा बाकी ओकरा लगे कौनों बैध चाल भी ना बचल बा, ई स्टेलमेट हो गइल बा

शतरंज के खेल बिना हार-जीत के ड्रा हो सके ला:

  • आपसी सहमती से: दुनों खेलाड़ी आपसी सहमती से ड्रा कर सके लें। सही तरीका होला कि जेकरे लगे चाल होखे ऊ बिपक्षी से ड्रा खातिर अनुरोध करे, आपन चाल चल दे आ बिपक्षी के टाइम खाती घड़ी चालू कर दे (मने कि ड्रा पर बिचार करे के काम बिपक्षी अपना समय में करे)। परंपरागत रूप से खेल में कबो ड्रा के प्रस्ताव कइल जा सके ला हालाँकि, अनौपचारिक रूप से, बहुत जल्दी ड्रा करावे के हतोत्साहित कइल जाला।
  • स्टेलमेट: जब खेलाड़ी के चाल होखे, ओकरा लगे कौनों बैध चाल बचल न होखे आ ओकरे राजा पर चेक भी न पड़ रहल होखे।
  • तीन बेर एकही स्थिति के रिपीट भइल: जब दुनों में से कवनों खेलाड़ी अइसन स्थिति से बचे के दसा में न होखे कि ओकरा के नोकसान न होखे आ तीन बेर एकही नियर गोटी के स्थिति रिपीट हो जाय (नोकसान से बचे खाती) तब कवनों खेलाड़ी ड्रा के अनुरोध कर सके ला। अइसन दसा में खेल के लिखित रिकार्ड रखल जरूरी होला जवना से कि अगर एह तीन बेर वाली स्थिति के चुनौती दिहल जाय तब रेफरी भा खेल के मध्यस्थता करे वाला जाँच कर सके आ दावा के पुष्टी कर सके।
  • पचास-चाल नियम: अगर लगातार 50 चाल में एकहू चाल प्यादा के ना भइल होखे आ कवनो गोटी मारल न गइल होखे, कवनों खेलाड़ी एह बात के हवाला दे के ड्रा के माँग कर सके ला।[note 1]
  • पाँच बेर रिपीटीशन: ई तीन बेर रिपीटीशन नियर नियम हवे बाकी एह नियम में खेलाड़ी लोग जब ड्रा खाती दावा ना करे ला तब रेफरी भा टूर्नामेंट के डाइरेक्टर खुद हस्तक्षेप क के खेल के ड्रा करवावे लें। ई नियम 2014 में फिडे द्वारा जोड़ल गइल।
  • पचहत्तर-चाल नियम: पचास-चाल वाला नियम जइसन होला; हालाँकि, अगर अइसन चाल सभ के क्रम में अंतिम चाल में मात हो गइल होखे, एकरा के वरीयता दिहल जाला। इहो नाया नियम हवे आ पाँच-बेर रिपीटीशन वाला नियम के नियर टूर्नामेंट के डाइरेक्टर के हस्तक्षेप से लागू होला।
  • जरूरत से कम मोहरा: अगर कौनों खेलाड़ी के लगे अतना गोटी बचबे न करे की दुनों में से केहू मात देवे के स्थिति में होखे। सिद्धांत रूप में कुछ मिनिमम गोटी निर्धारित बा जवना के साथे मात दिहल जा सके ला।
  • समय आधारित ड्रा: टाइम कंट्रोल वाला गेम में अगर एक खेलाड़ी आपन समय खतम क चुकल होखे आ बिरोधी खेलाड़ी के लगे मात देवे भर के गोटी न बचल होखे गेम के ड्रा घोषित कइल जाला।

इतिहास[संपादन]

Isle of Lewis के एगो राजा। चेसमेन (c12th C. ब्रिटिश म्यूजियम) में

ढ़ेरे इतिहासकार लोगन बानी जे के कहनाम बा कि शतरंज सबसे पहिले उत्तर भारत में छठईं ईस्वी में गुप्त साम्राज्य के वक्त खेलल जात रहल।[8] पहिले के शतरंज के ई खेल के "चतुरंगा" नांव से जानल जात रहल, जौन मलेटरी शब्द के संस्कृत ह। गुप्तकाल के शतरंज के गोटी ऊ काल के मिलेट्री में बँटल रहल जौन पैदल सेना रहे, जे में रहल घुड़सवार फौज, हाथी, आ रथ। धीर-धीरे ई गोटी सब हो गइल सिपाही, घोड़ा, हाथी, आ ऊँट। अंगरेजी में चेस (chess) आ चेक (check) दुनो शब्द फारसी शब्द शाह से आइल जेकर मतलब होला राजा।

नोट[संपादन]

  1. The 50 move rule is not applied at FICGS.[7]

संदर्भ[संपादन]

  1. Abate, Frank R. (ed) 1997. The Oxford desk dictionary and thesaurus. ISBN 0-19-511214-8
  2. Costello, Robert E. et al (eds) 2001. Macmillan dictionary for children. Simon & Schuster, New York. ISBN 0-689-84323-2
  3. Paton, John et al (eds )1992. The Kingfisher children's encyclopedia. Kingfisher Books, New York. ISBN 1-85697-800-1
  4. Gifford, Clive; Lisa Clayden (2002). Family Flip Quiz Geography. Bardfield Centre, Great Bardfield, Essex, CM7 4SL: Miles Kelly Publishing. ISBN 1-84236-146-5.
  5. "FIDE Laws of Chess, article 3.8.2". fide.com. World Chess Federation. 5 August 2017 के ओरिजनल से पुरालेखित.
  6. Burgess (2000), p. 481
  7. "50 moves rules". FICGS. 9 फरवरी 2010 के ओरिजनल से पुरालेखित. पहुँचतिथी 1 December 2009.
  8. Murray H.J.R. (1913). A history of chess. Benjamin Press (first published by Oxford University Press). ISBN 0-936317-01-9. OCLC 13472872.

आगे पढ़ीं[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]

  • "Chess Games". chessgames.com. पहुँचतिथी 1 अप्रैल 2010.