यूनाइटेड किंगडम यूरोपियन यूनियन सदस्यता रायशुमारी, २०१६

भोजपुरी विकिपीडिया से
इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं
यूनाइटेड किंगडम यूरोपियन यूनियन सदस्यता रायशुमारी
यूनाइटेड के यूरोपियन यूनियन के सदस्य रहे के चाहीं कि यूरोपियन यूनियन छोड़ देवे के चाहीं?[नोट 1]
Location यूनाइटेड किंगडम आ जिब्राल्टर
Date 23 जून 2016
Results
Votes  %
छोड़ल 17,410,742 51.89%
रहल 16,141,241 48.11%
Valid votes 33,551,983 99.92%
Invalid or blank votes 25,359 0.08%
Total votes 33,577,342 100.00%
Registered voters/turnout 46,501,241 72.21%
Results by वोट क्षेत्र
United Kingdom EU referendum 2016 area results.svg
  छोड़ल —   रहल
नक्सा पर, गहिरा रंग ढेर वोट के अंतर देखावत बाटे

यूनाइटेड किंगडम यूरोपियन यूनियन सदस्यता रायशुमारी (United Kingdom European Union membership referendum), जवना के यूनाइटेड किंगडम में ईयू रिफरेंडम के नाँव से भी जानल गइल, एगो गैर-बाध्यकारी[1] रायशुमारी रहल जवन मंगलवार, 23 जून 2016 के यूके आ जिब्राल्टर में [2][3] ई जाने खातिर भइल कि देस के केतना लोग यूरोपियन यूनियन में शामिल रहल जारी रखले के पक्ष में बाटे। एह रायशुमारी के रिजल्ट ईयू के छोड़ देवे के पक्ष में रहल, जवना खातिर 51.9% वोट मिलल आ 48.1% वोट ना छोड़े के पक्ष में रहल।[4][5][6][7] वोट के परिणाम यूनाइटेड किंगडम के देसवन में बिभाजित रूप से रहल आ जहाँ इंग्लैंड आ वेल्स ईयू के छोड़े के पक्ष में मतदान कइलें ओहीजा स्कॉटलैंड आ उत्तरी आयरलैंड के लोग के बहुमत शामिल रहे के पक्ष में रहल।[8]

1973 में ईईसी भा कॉमन मार्केट, जवन बाद में यूरोपियन यूनियन के नाँव से जान गइल, से जुड़े से पहिलहीं से ई बात यूनाइटेड किंगडम में बिबाद के बिसय रहल बाटे कि यूनाइटेड किंगडम के यूरोपीय यूनियन में शामिल होखे के चाहीं कि ना। ई पहिली रायशुमारी ना रहल बलुक एकरा पहिले 1975 में भी एक बेर एही मुद्दा पर रायशुमारी हो चुकल बाटे आ ओह समय 67 % वोटर लोग शामिल रहे के समर्थन कइले रहल।[9]

प्रचारक आ तर्क[संपादन]

ब्रिटेन स्ट्रौंगर इन यूरोप नाँव के समूह शामिल रहे के पक्ष में प्रमुख चुनाव प्रचारक समूह रहल आ वोट लीव ईयू के छोड़ के अलग होखे के पक्ष में चुनाव प्राचार करे वाला ग्रुप रहल। एकरे अलावा कई राजनीतिक पार्टी, लेबर यूनियन, अखबार आ प्रभावशाली लोग पक्ष आ बिपक्ष में आपन सहमती जाहिर क चुकल रहल। जे लोग अलग होखे के पक्ष लेट रह ओह लोगन के ब्रेक्सिट (ब्रिटेन आ एक्जिट के मिला के) के नाँव से जानल जात रहल।[10][नोट 2] ब्रेक्सिट लोग के तर्क ई रहल की ईयू में शामिल होखे से यूनाइटेड किंगडम के प्रभुसत्ता में कमी आवत बाटे। ओही जा शामिल रहले के वकालत करे वाला लोग के खनाम रहल की अइसन बड़ा संस्था के हिस्सा रहले से जवन फ़ायदा मिलत बाटे ऊ प्रभुसत्ता में अगर कौनों कमी भी आवत होखे तब के भरपाई कर देत बाटे आ ई ढेर फ़ायदा के चीज बाटे। छोड़ के अलग होखे के समर्थक लोग के तर्क रहल कि ईयू से अलग होख्ले के बाद यूनाइटेड किंगडम अपना इहाँ आवे वाला बाहरी प्रवासी लोग पर ढेर बढ़ियां से नियंत्रण रख पाई, आ एह से पब्लिक सर्विस, आवास सुबिधा आ नौकरी के अवसर पर दबाव में कमी होखी; एही के साथ ईयू के मेम्बरशिप के पइसा (कई मिलियन पाउंड) बची; यूनाइटेड किंगडम के आपन ब्यापार बानिज के समझौता खुद करे के अधिकार हो जाई; आ यूके के ईयू के बेमतलब के ब्यूरोक्रेसी से मुक्ति भी मिल जाई जवन बहुत महँगा पड़ रहल बाटे। जे लोग जुड़ल रहल चाहत रहल ऊ लोग के तर्क रहल कई ईयू के छोड़े के बाद यूके के संपन्नता में कमी आई; बिस्व परिदृश्य में यूके के महत्व कम होखी; कॉमन यूरोपियन अपराधी डेटाबेस के ना पहुँच होखे से राष्ट्रीय सुरक्षा के खतरा होखी; आ यूके आ ईयू के बीचे में ब्यापार-बानिज खातिर एक प्रकार के बाधा खड़ा हो जाई। बिसेस रूप से, एह लोग के तर्क रहल कई रोजगार में कमी आ नौकरी छूते जइसन समस्या पैदा होखी, निवेश में देरी होखी आ यूके के अर्थव्यवस्था के नोकसान होखी।[12]

रिजल्ट के बाद[संपादन]

रिजल्ट के तुरंत बाद फाइनेंस के बाजार में नकारात्मक रुख लउकल: शेयर के दाम अचानक अभूत गीर गइले, पौंड स्टर्लिंग के मूल्य में में भी गिरावट दर्ज कइल गइल (5–10% निर्णय के एक्के घंटा में)। सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी के भीतर भी एह पर तानातानी देखे के मिलल आ परधानमंत्री डेविड कैमरन घोषणा कइलें कि उनुकर पक्ष हार गइल बा एही से ऊ इस्थीपा दे दिहें।[13] स्कॉटलैंड के सरकार एह रायशुमारी के परिणाम के आवे के बाद स्कॉटलैंड के यूनाइटेड किंगडम के हिस्सा रहले पर रायशुमारी के संकेत दिहले रहल,[14] ऊ इहो घोषणा कइलस कि स्कौटलैंड सरकार भबिस्य में ईयू के साथ जुड़ल रहे के बारे में ईयू से बातचीत करी।"[15]

नोट[संपादन]

  1. Should the United Kingdom remain a member of the European Union or leave the European Union?
  2. The terms Brexit and Brixit were apparently first coined in June 2012; Brixit was first used by a columnist in The Economist,[not in citation given] while Brexit was first used by a British nationalist group.[specify] The terms were probably inspired by the word Grexit, shorthand for Greek withdrawal from the eurozone. The term Brexit first became a widely used buzzword in 2013.[11]


संदर्भ[संपादन]

  1. "The UK's EU referendum: All you need to know"; BBC; 24 जून 2016. 
  2. "European Union Referendum Act 2015"; legislation.gov.uk; पहुँचतिथी 14 May 2016. 
  3. Rowena Mason; Nicholas Watt; Ian Traynor; Jennifer Rankin (20 February 2016); "EU referendum to take place on 23 June, David Cameron confirms"; The Guardian; पहुँचतिथी 2 February 2016. 
  4. Sparrow, Andrew; Weaver, Matthew; Oltermann, Philip; Vaughan, Adam; Asthana, Anushka; Tran, Mark; Elgot, Jessica; Watt, Holly; Rankin, Jennifer; McDonald, Henry; Kennedy, Maev; Perraudin, Frances; Neslen, Arthur; O'Carroll, Lisa; Khomami, Nadia; Morris, Steven; Duncan, Pamela; Allen, Katie; Carrell, Severin; Mason, Rowena; Bengtsson, Helena; Barr, Caelainn; Goodley, Simon; Brooks, Libby; Wearden, Graeme; Quinn, Ben; Ramesh, Randeep; Fletcher, Nick; Treanor, Jill; McCurry, Justin; Adams, Richard; Halliday, Josh; Pegg, David; Phipps, Claire; Mattinson, Deborah; Walker, Peter (24 June 2016); "Brexit: Nicola Sturgeon says second Scottish referendum 'highly likely'". 
  5. Erlanger, Steven (23 June 2016); "Britain Votes to Leave E.U., Stunning the World"; The New York Times; ISSN 0362-4331; पहुँचतिथी 24 June 2016. 
  6. Goodman, Peter S. (23 June 2016); "Turbulence and Uncertainty for the Market After 'Brexit'"; The New York Times; ISSN 0362-4331; पहुँचतिथी 24 June 2016. 
  7. "EU referendum results live: Brexit wins as Britain votes to leave European Union"; पहुँचतिथी 24 June 2016. 
  8. Dickie, Mure (24 June 2016); "Scots' backing for Remain raises threat of union's demise" – via Financial Times. 
  9. Adrian Williamson, The Case for Brexit: Lessons from the 1960s and 1970s, History and Policy (2015).
  10. Fraser, Douglas (10 August 2012); "The Great British Brexit"; BBC; पहुँचतिथी 24 November 2012. 
  11. BuzzWord: Brexit also Brixit, Macmillan Dictionary (12 February 2013).
  12. "MPs will vote for UK to remain in the EU"; 23 February 2016; पहुँचतिथी 11 March 2016. 
  13. CNN, James Masters; "David Cameron falls on his sword". 
  14. "'Brexit' Triggers New Bid for Scottish Independence". 
  15. Carrell, Severin; Rankin, Jennifer (25 June 2016); "Sturgeon to lobby EU members to support Scotland's bid to remain". 

अउरी पढ़े खातिर[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]