मेला

विकिपीडिया से
सीधे इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं

जब कौनो एक स्थान पर बहुत लोग कौनो सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक चाहे दुसरा कौनो कारण से इकट्ठा हो जालें त उ के मेला कहल जायेला। मेला कई तरह के होखेला। एकेगो मेला में तरह-तरह के क्रियाकलाप देखे के मिलेला आ विविध प्रकार के दोकान एवं मनोरंजन के साधन हो सकेला। भारत त मेला खातिर प्रसिद्ध बा। अहिजा कोस-दु-कोस पर जगह-जगह मेला लागेला जौन अधिकांशत: धार्मिक होखेला किन्तु कुछ पशु-मेला आ कृषक मेला भी अहिजा लागेला।

विश्व क सबसे बड़हन मेला कुंभ मेला हवे जेवन इलाहाबाद में हर बारहवाँ बरिस लागेला।

इहो देखीं[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]