महेंदर मिसिर

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
महेंदर मिसिर
जनम (1886-03-16)मार्च 16, 1886
निधन अक्टूबर 26, 1946(1946-10-26) (उमिर 60)
पेशा कवी
भाषा भोजपुरी
राष्ट्रीयता भारतीय
जुग ब्रिटिश काल
बिधा पूरबी, भजन
बिसय प्रेम, बिरह, भक्ती
रिश्तेदार शिवशंकर मिसिर (बाबूजी)
गायत्री देई (महतारी)

महेंदर मिसिर (16 मार्च 1886 – 26 अक्टूबर 1946[1]) भोजपुरी भाषा के कवी रहलें।[2] इनके खास पहिचान इनके लिखल पुरबी गीत सभ के वजह से भइल आ इनके "पूरबी सम्राट" भा "पुरबिया उस्ताद"[3] के उपाधि दिहल गइल। इनके जिनगी के ऊपर भोजपुरी लेखक पांडेय कपिल एगो उपन्यास फुलसुंघी लिखलें जे भोजपुरी साहित्य में खास महत्व वाला उपन्यास बाटे।[4]

संदर्भ[संपादन]

  1. by www.satyodaya.com. "जन्मदिवस : पुरबी सम्राट महेंदर मिसिर, भोजपुरी का एक महान सपूत | सत्योदय". Satyodaya.com. पहुँचतिथी 2018-03-18.
  2. Desk, Online (2014-10-26). "पहचान के मोहताज नहीं महेंदर मिसिर". Prabhatkhabar.com. पहुँचतिथी 2018-03-18.
  3. Khabar, Prabhat. "महेंदर मिसिर : पुरबिया उस्ताद". Prabhatkhabar.com. पहुँचतिथी 2018-03-18.
  4. "श्रद्धांजलि: पांडेय कपिल, महेंदर मिसिर, फुलसुंघी, भोजपुरी समाज और प्रेम". Sautuk.com. पहुँचतिथी 2018-03-18.