चार (दीप)

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चार बंगाल में गंगा डेल्टा में नदी द्वारा ले आइल माटी आ अवसाद के जमा कइला से बनल दीप के कहल जाला। बाढ़ उतरले की बाद अक्सर नया चार भी बन जाला आ पुरान कट के बह भी जाला।[1] इहाँ रहे वाला लोग नया दीप पर बस जाला आ पुरान के छोड़ देला।

चार के उलटा एह डेल्टा वाला हिस्सा में बील नाँव के थलरूप भी मिलेला जवन आम आम मैदान से तनी गहिरा झील नियर हिस्सा होला जहाँ पानी एकट्ठा हो जाला। चार पर रहे वाला लोग बाढ़ के नीक माने ला काहें से की एकरा से नया माटी आ के जमीन के अउरी उपजाऊँ बना देला।[2]

इहो देखल जाय[संपादन]

संदर्भ[संपादन]

  1. बंगाल डेल्टा, अध्याय १ - "परिचय", पन्ना-१, (अंगरेजी में)।
  2. Sillitoe, Paul; Alam, Mahbub (2014). "Why did the fish cross the road?". में Hornidge, Anna-Katharina; Antweiler, Christoph. Environmental Uncertainty and Local Knowledge: Southeast Asia as a Laboratory of Global Ecological Change (गूगल किताब) (English में). transcript Verlag. प. 177. ISBN 383941959X. पहुँचतिथी 9 दिसंबर 2015.