कीच तट

विकिपीडिया से
सीधे इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं
ज्वारीय मैदान के एगो स्केच।

कीच तट समुंद्र के किनारे के हिस्सा में मौजूद एगो थलरूप होला जहाँ निचाई वाली समतल जमीन के ऊपर बेर-बेर ज्वारभाटा के पानी चढ़े-उतरे के कारण कनई जमा हो जाले आ दलदली सपाट मैदान नियर बन जाला जे ज्वार आवे पर पानी के अंदर बूड़ जाला आ ज्वार उतरे पर फिन से उपरा जाला।

संदर्भ[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]