कीच तट

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ज्वारीय मैदान के एगो स्केच।

कीच तट समुंद्र के किनारे के हिस्सा में मौजूद एगो थलरूप होला जहाँ निचाई वाली समतल जमीन के ऊपर बेर-बेर ज्वारभाटा के पानी चढ़े-उतरे के कारण कनई जमा हो जाले आ दलदली सपाट मैदान नियर बन जाला जे ज्वार आवे पर पानी के अंदर बूड़ जाला आ ज्वार उतरे पर फिन से उपरा जाला।

संदर्भ[संपादन]

बाहरी कड़ी[संपादन]