शारीरिक कला

विकिपीडिया से
कथकली
भारतीय नाच, कथकली

शारीरिक कला चाहे परफार्मिंग आर्ट्स में अइसन सगरी कला सभ के सामिल कइल जाला जेह में कलाकार अपना शरीर के अंग के बिबिध मुद्रा आ गति, आवाज, भाव-भंगिमा नियर चीजन के इस्तेमाल क के आपन कला के पर्दर्शन करे ला। एही से इनहन के प्रदर्शन कला भी कहल जाला। एह तरह के कला सभ के उदाहरण में डांस, गाना गावल, मेमे, कठपुतरी नाच, ऑपेरा इत्यादि सभ आवे ला।

संदर्भ[संपादन करीं]