मोबाइल फोन

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कई गो मोबाइल फोन
मोबाइल फोन सभ के समय के साथ बिकास

मोबाइल फोन या मोबाइल (इ के सेलफोनहाथफोन भी कहल जायेला) एक तरह के टेलीफोन हवे जे बेतार के होला आ आसानी से कहीं ले जाइल जा सके ला। टेलीफोन के तरे ईहो आदमी के आवाज के इलेक्ट्रानिक सिग्नल में बदल देला आ एक ठो नेटवर्क द्वारा एक जगह से दूसरा जगह भेजे ला, दूसरा ओर से मिले वाला अइसने इलेक्ट्रानिक सिग्नल के वापस आवाज में बदल के सुनावे ला।

बात करे के अलावा, आज के मोबाइल के अउरी बहुत सारा उपयोग बा, जइसे मैसेज भेजल, चैट कइल, गेम खेलल, फोटो खींचल, इंटरनेट सर्फिंग कइल आ बीडियो देखल। नया ज़माना के मोबाइल फोन के स्मार्टफोन कहल जाला जिनहन में बहुत सारा मोबाइल एप इंस्टाल कइल जा सके ला आ बिबिध रूप में इस्तमाल कइल जा सके ला।

मोस्फेट, क्या लार्ज स्केल इंटीग्रेशन, सुचना थिअरी आ सेल्यूलर नेटवर्क के क्षेत्र मे बिकास होखला के चलते सस्ता मोबाइल संपर्क के बिकास भईल। दुनिया के पहिला मोबाइल फोन, जॉन ऍफ़॰ मिटचेल द्वारा[1][2] आ मार्टिन कूपर द्वारा मोटोरोला कंपनी के खातिर बनावल गइल, 1973 में प्रदर्शित एह फोन के वजन लगभग 2 किलो रहल।[3] 1979 मे निप्पोन टेलीग्राफ आउर टेलीफोन कंपनी जापान मे पहिलका सेल्यूलर नेटवर्क चालू कइलस। मोटोरोला के DynaTac 8000x हाट मे मिले वाला पहिलका मोबाइल फोन रहे।. 1983 से 2014 ले, दुनिया भ मे मोबाइल फोन के परजोग सात अरब से बेसी हो गइल; एतना मे धरती प हर केहू के एगो मोबाइल फोन मिल सकेला.[4] 2016 के पहिलका तिमाही मे, सभ से बेसी स्मार्टफोन Samsung, Apple and Huawei बनइले रहे; स्मार्टफोन sales represented 78 percent of total mobile phone sales.[5] For feature phones (slang: “dumbphones”) 2016 तक ले , the largest were Samsung, Nokia and Alcatel.[6]

इतिहास[संपादन]

मोटोरोला कंपनी के मार्टिन कूपर पहिला हाथफोन से पब्लिक के सोझा 4 अप्रैल 1973 के प्रस्तुत कइलेन, मॉडल के नाँव DynaTAC रहल, ई ओही के साल 2007 में बनल नकल हवे।

रेडियो इंजीनियरी के सुरुआती दौर में लोग ई सोच लिहले रहल कि भाबिस्य में हाथ में ले के रेडियो टेलीफोन से बात कइल जा सकी। साल 1917 में फिनलैंड में एरिक टाइगरस्टेड पेटेंट खाती परचा भरलें, "पाकेट-साइज के फोल्ड होखे वाला टेलीफोन खातिर जेह में बहुत पातर कार्बन माइक लागल रहल"। सेलुलर फोन सभ के पहिला पूर्बज सभ रेडियो सिग्नल आधारित बात करावे वाला यंत्र रहलें जिनहन के प्रयोग जहाज आ रेल में चालक दल के लोग द्वारा आपस में बात करे खातिर सुरू भइल। दूसरा बिस्व जुद्ध के बाद के दौर में पाकेट में समा जाए वाला टेलीफोन बनावे खाती दौड़ सुरू भइल। मोबाइल फोन के बिकास क्रम के कई जेनरेशन में बाँट के देखल जाला, पहिलका के जीरो जेनरेशन (0G) कहल जाला आ एह जमाना के मोबाइल फोन रेडियो आधारित रहलें, सेलुलर नेटवर्क आधारित ना रहलें आ बहुत महँगा रहलें। एहमें बेल सिस्टम के बनावल "मोबाइल टेलीफोन सर्विस" आ एकरे बाद के वर्जन "इम्प्रूव्ड मोबाइल टेलीफोन सर्विस" के नांव गिनावल जा सके ला।

1945 में, मोबाइल टेलीफोन क शून्य पीढ़ी (0G) शुरू करल गईल रहल। उ समय क अन्य तकनीकन के तरह, इ में एकल, शक्तिशाली बेस स्टेशन शामिल रहल, जौन एक व्यापक क्षेत्र के कवर करत रहल, आ प्रत्येक टेलीफोन प्रभावी रूप से एक चैनल के पूरे क्षेत्र पर एकाधिकार करत रहल। आवृत्ति क पुनः प्रयोग आ अंतरण क अवधारणा, तथा अन्य अवधारणन क संख्या जौन आधुनिक सेल फोन तकनीक के गठन क आधार ह, उ के U.S. Patent 4,152,647 में सबसे पहिले वर्णित करल गईल रहल, जौन चार्ल्स ए. गलैड़न आ मार्टिन एच. पैरेलमन के 1 मई, 1979 में जारी करल गईल, दुनों ही लास वेगास, नेवाडा के रहल आ उनके द्वारा संयुक्त राज्य अमेरिका क सरकार क सौंपल गईल रहल।

ई सभे अवधारणन क पहिला अवतार ह जौन मोबाइल टेलीफोनी में अगिला बड़ कदम, एनालॉग सेल्युलर टेलीफोन के गठन के आधार बनल। इ पेटेंट में शामिल अवधारणन के (कम से कम 34 अन्य पेटेंटन में उद्धृत) बाद में कई उपग्रह संचार प्रणाली में विस्तारित करल गईल रहल। बाद में सेलुलर प्रणाली से डिजिटल प्रणाली में अद्यतन, इ पेटेंट के क्रेडिट देवेला।

एक मोटोरोला अनुसंधानकर्ता आ शासनात्मक,मार्टिन कूपर, के व्यापक रूप से अनु वाहन सेटिंग में हाथ के उपयोग खातिर पहला व्यावहारिक मोबाइल फोन के आविष्कारक मानल जयेला। 17 अक्टूबर, 1973 में "रेडियो टेलीफोन प्रणाली" में अमेरिका के पेटेंट कार्यालय के द्वारा कूपर के आविष्कारक घोषित करल गईल आ बाद में अमेरिका पेटेंट 3906166 जारी करल गईल रहल। एक आधुनिक, कुछ भारी वहनीय चोगा के प्रयोग करके, कूपर 3 अप्रैल, 1973 के बेल लेबोरेटरीज के एक प्रतिद्वंद्वी डा. योएल एस. एंगेल के एक हाथ के मोबाइल फोन पर पहिला बार फोन कईलन।

1979 में, NTT द्वारा जापान में पूरा शहर में पहिला वाणिज्यिक सेलुलर नेटवर्क शुरू करल गईल रहल। पूरी तरह से स्वचालित सेलुलर नेटवर्क के पहिला बार 1980 के दशक के शुरू से मध्य तक (1G पीढ़ी) शुरू करल गईल। 1981 में नॉर्डिक मोबाइल टेलीफोन (NMT) प्रणाली डेनमार्क, फिनलैंड, नार्वेस्वीडन में शुरू भइल रहल।

निजी हाथ-फोन प्रणाली मोबाइलन आ जापान में 1997-2003 के आसपास प्रयुक्त भइल मॉडेम

1983 में, मोटोरोला ड्य्नाTAC, संयुक्त राज्य अमेरिका में FCC के द्वारा अनुमोदित पहिला मोबाइल फोन रहल। 1984 में, बेल लेबोरेटरीज द्वारा आधुनिक व्यावसायिक सेलुलर प्रौद्योगिकी के विकसित करल गईल (ज़्यादातर गलैड़न के, पैरेलमन पेटेंट पर आधारित), जौन एकाधिक केन्द्र नियंत्रित बेस स्टेशनन (सेल साइटों) के नियोजित करले, प्रत्येक छोट क्षेत्र (एक सेल) के सेवा उपलब्ध करत रहल। सेल साइट इ तरह से स्थापित भइल कि सेल आंशिक रूप से अतिच्छादन करत रहले। एक सेलुलर प्रणाली में, एक बेस स्टेशन (सेल साइट) आ एक टर्मिनल (फोन) के बीच सिग्नल केवल इतना प्रबल होवे के चाही की उ इ दुनों के बीच पहुँच सके, ताकि विभिन्न कोशिकाअन में बातचीत के अलग करे खातिर उहे चैनल एक साथ इस्तेमाल किरल जा सके।

सेलुलर प्रणालि के कई प्रौद्योगिकी उछाल के आवश्यकता रहल, हवाले सहित, जेसे मोबाइल फोन के सेल के बीच कूच करते हुए बातचीत जारी रखे के गुंजायश रहल। इ प्रणाली में बेस स्टेशनन आ टेलीफोन दुनों में चर संचरण शक्ति शामिल बा (बेस स्टेशनन द्वारा नियंत्रित), जौन रेंज आ सेल के आकार में भिन्न संभव बनवलस। जब इ प्रणाली में विस्तार आ क्षमता के निकट पहुंचल, विद्युत पारेषण के कम करे के क्षमता द्वारा नया कोशिका के जुड़ल मुमकिन बनल, जे के परिणाम अधिक, छोट कोशिका आ इ प्रकार अधिक क्षमता। इ वृद्धि क सबूत के अभी भी कई पुरान में, लंबा सेल साइट टावरन पर देखल जा सकत बा जौन टावरन के ऊपरी हिस्से पर कौनो एंटीना ना रहल। इ साइट द्वारा मूलतः बड़ बड़ कोशिका बनल, आ इहे खातिर उके एंटीना ऊंच टावरन के ऊपर स्थापति रहल; टॉवर इ तरह से डिजाइन करल गईल रहल ताकि प्रणाली के विस्तार होखे-सेल के आकार सिकुड़ सकें- एंटीना के कम करल जा सकत बा उनके मूल मस्तूल पर सीमा के कम करे खातिर।

एक 1991 GSM मोबाइल फोन

डिजिटल 2G (दूसरी पीढ़ी) सेलुलर प्रौद्योगिकी पर पहिला "आधुनिक" नेटवर्क प्रौद्योगिकी 1991 में फिनलैंड मे

संदर्भ[संपादन]

  1. John F. Mitchell Biography
  2. Who invented the cell phone?
  3. Heeks, Richard (2008). "Meet Marty Cooper – the inventor of the mobile phone". BBC. 41 (6): 26–33. doi:10.1109/MC.2008.192.
  4. "Mobile penetration". 9 July 2010. Almost 40 percent of the world's population, 2.7 billion people, are online. The developing world is home to about 826 million female internet users and 980 million male internet users. The developed world is home to about 475 million female Internet users and 483 million male Internet users.
  5. "Gartner Says Worldwide Smartphone Sales Grew 3.9 Percent in First Quarter of 2016". Gartner. पहुँचतिथी 21 May 2016.
  6. "Nokia Captured 9% Feature Phone Marketshare Worldwide in 2016". Strategyanalytics.com. 24 February 2017. पहुँचतिथी 7 September 2018.