ज्वार भाटा

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ज्वार भाटा चाहे ज्वारभाटा (अंगरेजी: tide) समुंद्र में पानी के उतार-चढ़ाव के घटना हवे जे चंद्रमा आ सुरुज के खिंचाव वाला बल आ पृथिवी के घुमरी के संजुक्त परिणाम आ परभाव होला। ई घटना समुंद्र के तीरे सभसे बढ़ियां अनुभव कइल जाला जहाँ निश्चित समय के अंतर पर समुंद्र के पानी किनारे पर ऊपर चढ़े ला आ फिर निश्चित समय पर एह में उतार होखे ला; ऊपर चढ़े के समुंद्री ज्वार आ नीचे उतार के भाटा कहल जाला। समुंद्री पानी के एह चढ़ाव उतार के समय के निर्धारण ज्वारभाटा सारिणी बना के कइल जा सके ला काहें से कि हर जगह खातिर एकर समय निश्चित होखे ला।

ज्वार-भाटा के ऊँचाई-निचाई आ समय पर कई चीजन के परभाव पड़े ला: मुख्य परभाव चंद्रमा आ सुरुज के आपसी स्थिति (चंद्रमा के कला) होला, एकरे अलावा समुंद्र के गहिराई आ बिस्तार, किनारा के प्रकार नियर चीजन के परभाव पड़े ला। आमतौर पर कौनों जगह पर दू बेर अइसन उतार चढ़ाव के घटना देखल जाला, दुनों बेर पानी के चढ़ाव आ उतार के मात्रा बरोबर होखे ला; एकरा से सेमी-ड्यूरिनल टाइड कहल जाला। एकरे अलावा कुछ जगहन पर दिन में एक बेर चढ़ाव-उतार देखल जाला, एकरा के ड्यूरिनल (दैनिक) ज्वारभाटा कहल जाला। एगो तीसरा किसिम भी कई जगह देखल जाला जहाँ दिन में दू बेर उतार चढ़ाव होखे ला बाकी दुनों बेर के चढ़ाव-उतार के ऊँचाई में फरक होखे ला।

ई आम समुंद्री लहर के प्रकार ना हवे, हालाँकि, एह घटना के चलते समुंद्री किनारे पर पानी के उतार-चढ़ाव के लहर के रूप में परिभाषित कइल जा सके ला आ इनहन के ज्वारभाटा लहर (टाइड वेव्ज़) कहल जाला; इनहन के उत्पत्ती के मैकेनिज्म बिल्कुले अलगा टाइप के होखे ला।[1]

  1. "Are Tides Waves?". www.vims.edu (in English). Retrieved 6 फरवरी 2022.