चूड़ी

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारत के बंगलौर में एक ठो दुकान पर सजल चूड़ी।

चूड़ी या चूरी कलाई मे पहिरल जाए वाला एक ठो गहना हवे। ई बेलोचदार ब्रेसलेट हवे जे धातु, सीसा, लकड़ी, प्लास्टिक इत्यादि से बने ला। पुरा दक्खिन एशिया में मेहरारू लोग में ई एक ठो पसंदीदा गहना हऽ। हिंदू औरत लोग एकरा के एहवात के चीन्हा माने लीं आ केहू एहवातिन औरत खाली हाथ ना रहे ला।[1] औरत लोग के अलावा छोट लड़िका बच्चा सब के पहिरे खातिर छोट-छोट चुड़िला बने ला। मरद लोग कड़ा पहिरे ला जे चूड़ी के ही एक ठो रूप हवे।

चूड़ी के एक ठो रूप कंगन होला। सोना आ चानी के कंगन महँगा गहना सभ में गिनल जाला।

संदर्भ[संपादन]