गोधना

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

गोधना चाहे गोधना कूटल एगो हिंदू तिहुआर हवे जे दिपावली के अगिला दिने, मने कि कातिक सुदी एक्कम के मनावल जाला। एह दिन गोबर से गोधना-गोधनी के आकृति बना के पूजा होखे ले। संस्कृत में एकरा के गोवर्धन पूजा चाहे अन्नकूट भी कहल जाला। कुछ जगह ई दिपावली से एक दिन आंतर पार मनावल जाला आ दिपावली आ गोधना के बिचा वाला दिन के परुआ कहल जाला।

एह तिहुआर के साथे कृष्ण द्वारा गोवर्धन परबत उठा के इंद्र के कोप से लोगन के रच्छा करे के कथा जुड़ल हवे।

इहो देखल जाय[संपादन]

संदर्भ[संपादन]