प्रकृति

विकिपीडिया से
इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं
Lightning strikes during the eruption of the Galunggung volcano, West Java, in 1982.

प्रकृति अपनी बिस्तृत अर्थ में अइसन सबकुछ के कहल जा सकेला जेवन प्राकृतिक रूप से ए दुनिया आ ब्रह्माण्ड के हिस्सा बाटे। आमतौर पर प्रकृति के मतलब होला सगी चीज के समूह जेवन मनुष्य के बनावल न होखे। आज्काल्ह ई शब्द नदी, पहाड़, जंगल आ जंगली जीव-जंतु सभ के एकट्ठा रूप खातिर भी प्रयोग में बाटे।

प्रकृति में पृथ्वी पर पावल जाए वाली सगरी चीज जेवन अपने आप बिना मनुष्य की हस्तक्षेप के बनल बाटे ऊ सभ आ जाला आ एकरा सब के एकट्ठा रूप में प्राकृतिक पर्यावरण कहल जाला।


संदर्भ[संपादन]