तिब्बत

विकिपीडिया से
सीधे इहाँ जाईं: नेविगेशन, खोजीं

निर्देशांक: 31°12′N 88°48′E / 31.2°N 88.8°E / 31.2; 88.8

तिब्बत के सांस्कृतिक/इतिहासी बिस्तार देखावत नक्सा
              तिब्बती निर्वासित लोग के दावेदारी: "बिसाल तिब्बत" क्षेत्र
  चीन के ऑटोनॉमस प्रशासनिक खंड
  तिब्बत खुदमुख्तार इलाका, चीन के अंदर
चीनी अधिकार में, भारत के दावेदारी
भारत के अधिकार में, चीन के दावेदारी
तिब्बती संस्कृति के परभाव वाला अन्य इलाका

तिब्बत एशिया महादीप में एगो क्षेत्र बा। वर्तमान में ई चीन देस के खुदमुखतार इलाका (ऑटोनॉमस रीज़न) के रूप में बा। ई चीन के पच्छिमी-दक्खिनी हिस्सा में बा आ भारत, नेपालभूटान देसन के उत्तरी सीमा एही के साथ बने ले। 24 लाख वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र बिस्तार वाला ई इलाका चीन के कुल रकबा के लगभग चउथाई हिस्सा हवे। तिब्बत के अधिकतर इलाका पठारी आ पहाड़ी बाटे। तिब्बत के पठार के एकरे ऊँचाई के कारन संसार के छत कहल जाला। एकर औसत ऊंचाई 4900 मीटर बाटे आ संसार के सभसे ऊँच परबत चोटी, हिमालय के माउंट एवरेस्ट, तिब्बत आ नेपाल के बीच बा।

तिब्बती लोगन के ई मूल निवास क्षेत्र हवे आ अउरी कई गो जाति के लोगन के भी मूल अस्थान हवे जइसे कि मोनपा लोग, जियांग लोग आ ल्होबा लोग एही जगह के मूल निवासी हवे। हाल के दसक में चीनी हान लोग आ हुई लोग भी चीन द्वारा बसावल गइल बा। इहाँ के मुख्य धरम तिब्बती बौद्ध धरम हवे, एकरे अलावा तिब्बती मुसलमान आ कुछ ईसाई लोग भी अल्पसंख्यक के रूप में निवास करे ला।

तिब्बत के संस्कृति आ कला, संगीत आ आर्किटेक्चर पर तिब्बती बौद्ध धरम के ब्यापक आ पोढ़ परभाव देखे के मिले ला। एकरे अलावा चीनी आ भारतीय परभाव भी चिन्हित कइल जा सके ला। इहाँ के अर्थब्यवस्था मुख्य रूप से जीवन निर्वाह खातिर खेतीकिसानी आ पशुपालन वाली बा। मुख्य उपज में जौ, याक के माँस आ तिब्बती चाय बाटे। कई तरह के पहाड़ी जड़ी-बूटी आ उन भी इहाँ से बाहर बेचल जाला। परंपरागत रूप से हिमालय परबत के दर्रा सभ से हो के कई गो रस्ता द्वारा भारत आ तिब्बत के बीच ब्यापार होत रहल बा जे अब भारत आ चीन के बीच के तनाव के चलते बहुत खराब स्थिति में पहुँच गइल बा।

तिब्बत के धार्मिक नेता आ मुखिया, दलाई लामा आजकाल्ह भारत में निर्वासित (इलाका बदर) शरणार्थी के रूप में रहे लें आ तिब्बत के ढेर सारा लोग भी।