भारत

भोजपुरी विकिपीडिया से
अहिजा जाईं: परिभ्रमण, खोजीं
भारत
Flag of India.svg Emblem of India.svg
भारत क ध्वज भारत क राजचिह्न

राष्ट्रीय सूत्र: "सत्यमेव जयते" (संस्कृत)
सत्य ही हमेशा जीतेला

देसी गोरू बाघ
देसी चिरई मोर
देसी फूल कमल
भाषा हिन्दी (भारत की भाषाएँ)
राजधानी नई दिल्ली
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी
प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह
क्षेत्रफल
 - कुल
 - % पानी

३,२८७,५९० किमी²;
९.५%
आबादी
 - कुल (२०००)
 - गीचता
दुसरे स्थान पर
१,०२९,९९१,१४५
३१३/km²
स्वतंत्रता दिवस ब्रिटिश राज से स्वतंत्रता
१५ अगस्त, १९४७
मुद्रा भारतीय रुपया (INR)
समय मण्डल आइएसटी (IST)
राष्ट्रीय गीत जन ग़ण मन
राष्ट्रीय गान वन्दे मातरम्‌
इंटरनेट टीएलडी .IN
दूरभाष कोड ९१

भारत, पौराणिक जम्बूद्वीप, आधुनिक दक्खिन एशिया में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप क सबसे बड़ देश ह। भारत क भौगोलिक फैलाव ८० ४' से ३७० ६' उत्तरी अक्षांश तक अउर ६८० ७' से ९७० २५'पूरबी देशान्तर तक ह। भारत क फैलाव उत्तर से दक्खिन तक २,९३३ कि. मी. अउर पूरब से पश्चिम तक २,९३३ कि. मी. है। भारत क समुद्र तट रेखा ७५१६.६ किलोमीटर लम्बा ह। भारत, भौगोलिक दृष्टि से विश्व क सातवाँ सबसे बड़ और जनसँख्या के दृष्टि से दूसर सबसे बड़ देश ह। भारत के पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पूरब में चीन, नेपाल, अउर भूटान अउर पूरब में बांग्लादेश अउर म्यान्मार देश हउअन। हिन्द महासागर में एकरे दक्खिन-पश्चिम में मालदीव, दक्खिन में श्रीलंका अउर दक्खिन-पूरब में इंडोनेशिया ह। उत्तर-पश्चिम में अफ़गानिस्तान के साथ भारत क सीमा ह। एकरे उत्तर में हिमालय पर्वत ह अउर दक्खिन में हिन्द महासागर ह। पूरब में बंगाल क खाड़ी ह अउर पश्चिम में अरब सागर ह। भारत में कईठे बड़ नदियाँ हइन। गंगा नदी भारत के संस्कृति में अत्यंत पवित्र मानल जाली। अन्य बड़ नदी सिन्धु, नर्मदा, ब्रह्मपुत्र, यमुना, गोदावरी, कावेरी, कृष्णा, चम्बल, सतलज, व्यास आदि हइन।

ई विश्व क सबसे बड़ लोकतंत्र ह। इहाँ ३०० से अधिक भाषा बोलल जाली। ई विश्व क कुछ प्राचीनतम सभ्यता क जननी ह जैसे - सिन्धु घाटी सभ्यता। विश्व क चार प्रमुख धर्म : सनातन-हिन्दू, बौद्ध, जैन अउर सिख भारत में ही जन्म लेहलन अउर विकसित होलन।

भारत भौगोलिक क्षेत्रफल के आधार पर विश्व क सातवाँ सबसे बड़ राष्ट्र ह। भारत क राजधानी नई दिल्ली ह। भारत क अन्य बड़ सहर मुम्बई(बम्बई), कोलकाता (कलकत्ता) अउर चेन्नई (मद्रास) हउअन। भारत विश्व क दसवां सबसे बड़ अर्थव्यवस्था ह।

नामोत्पत्ति[सम्पादन]

भारत के दुगो आधिकारिक नाम हवे- हिन्दी में भारत औरि अंग्रेज़ी में इण्डिया (India)। इण्डिया नाम के उत्पत्ति सिन्धु नदी के अंग्रेजी नाम "इण्डस" से होएल हवे। भारत नाम, एक प्राचीन हिन्दू सम्राट भरत जौन मनु के वंशज ऋषभदेव के ज्येष्ठ पुत्र रहे तथा जेकर कथा श्रीमद्भागवत महापुराण में हवे,ओकरे नाम से लिहल गैइल ह। भारत (भा + रत) शब्द के मतलब हवे आन्तरिक प्रकाश या विदेक-रूपी प्रकाश में लीन। एगो तीसरा नाम भि हवे हिन्दुस्तान जेकर अर्थ ह हिन्द(हिन्दू) के भूमि होला जौन प्राचीन काल ऋषि द्वारा दिहल गैइल बा। प्राचीन काल में ई कम प्रयुक्त होअत रहल तथा कालान्तर में अधिक प्रचलित हो गैइल विशेषकर अरब/ईरान में। भारत में यह नाम मुगल काल से अधिक प्रचलित हो गैइल यद्यपि ऐकर समकालीन उपयोग कम औरि प्रायः उत्तरी भारत के खातिर होऐला।ऐकर बावजुद भारतवर्ष के वैदिक काल से आर्यावर्त "जम्बूद्वीप" औरि "अजनाभदेश" के नाम से भी जानल जाला। बहुत पहले ई देश 'सोने के चिड़िया' के रूप में जाना जात रहल।

राष्ट्र के रुप में उदय[सम्पादन]

भारत के एगो सनातन राष्ट्र मानल जाला काहेकी है ई मानव-सभ्यता के पहिला राष्ट्र रहल। श्रीमद्भागवत के पञ्चम स्कन्ध में भारत राष्ट्र के स्थापना के वर्णन आवेला। भारतीय दर्शन के अनुसार सृष्टि उत्पत्ति के पश्चात ब्रह्मा के मानस पुत्र स्वयंभू मनु व्यवस्था सम्भल्ल्न। उनकर दूगो पुत्र, प्रियव्रत और उत्तानपाद रहलन। उत्तानपाद भक्त ध्रुव के पिता रहलन। एही प्रियव्रत के दस पुत्र रहलन। तीनगो पुत्र बाल्यकाल से ही विरक्त रहलन। एही कारण प्रियव्रत पृथ्वी के सात भागों में विभक्त कर एक-एकगो भाग हरेक पुत्र के सौंप देहलन। एही में से एगो आग्नीध्र रहलन जकरके जम्बूद्वीप के शासन कार्य सौंपा गईलन। वृद्धावस्था में आग्नीध्र अपन नौ पुत्रों के जम्बूद्वीप के विभिन्न नौ स्थान के शासन दायित्व सौंप देहलन। इ नौ पुत्र में सबसे बड़ नाभि रहलन जेकरा हिमवर्ष के भू-भाग मिलल। उ हिमवर्ष के स्वयं के नाम अजनाभ से जोड़ कर अजनाभवर्ष प्रचारित कईलन। ई हिमवर्ष या अजनाभवर्ष ए प्राचीन भारत देश रहल। राजा नाभि के पुत्र ऋषभ रहलन। ऋषभदेव के सौ पुत्रों में भरत ज्येष्ठ एवं सबसे गुणवान रहलन। पहले भारतवर्ष के नाम ॠषभदेव के पिता नाभिराज के नाम पर अजनाभवर्ष प्रसिद्ध रहल। भरत के नाम से ही लोग अजनाभखण्ड के भारतवर्ष कहे लगलन ।

इतिहास[सम्पादन]

Main article: भारतीय इतिहास

तीसरी शताब्दी में सम्राट अशोक द्वारा बनावल गईल मध्य प्रदेश में साँची का स्तूप

पाषाण युग भीमबेटका मध्य प्रदेश की गुफाएँ भारत में मानव जीवन क प्राचीनतम प्रमाण हईन । पहली स्थाई बस्तियों ने ९००० बरिस पहिले स्वरुप लहलेन। ईह आगे चल कर सिन्धु घाटी सभ्यता में विकसित भईलिन, जे २६०० ईसा पूर्व और १९०० ईसा पूर्व के मध्य अपने चरम पर रहलेन। [१] लगभग १६०० ईसा पहिले आर्य भारत अईलेन और उन्होंने उत्तर भारतीय क्षेत्रन में वैदिक सभ्यता क शुरुआत कईलेन। ई सभ्यता के स्रोत वेद और पुराण हउअन। किन्तु आर्य-आक्रमण-सिद्धांत अबहीं तक विवाद क मामला ह। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक सहित कुछ विद्वानन क मान्यता ह कि आर्य भारतवर्ष क स्थायी निवासी हउअन अउर वैदिक इतिहास करीब ७५,००० वर्ष पपुराना ह।[२] एही समय दक्षिण भारत में द्रविड़ सभ्यता का विकास होत रहल। दुनु जातियों ने एक दूसरे के खूबियों के अपनईलेन अउर भारत में एक मिश्रित-संस्कृति क निर्माण कईलेन।

५०० ईसवी पूर्व कॆ बाद कई स्वतंत्र राज्य भईलेन। भारत क शुरुआती राजवंशन में उत्तर भारत क मौर्य राजवंश उल्लेखनीय ह जेकर प्रतापी सम्राट अशोक क विश्व इतिहास में विशेष स्थान ह।[३] १८० ईसवी के शुरुआत से मध्य एशिया से कई आक्रमण भयल, जेकरे परिणामस्वरूप उत्तर भारतीय उपमहाद्वीप में यूनानी, शक, पार्थी और आखिर में कुषाण राजवंश स्थापित भईलेन। तीसरी शताब्दी के आगे क समय जब भारत पर गुप्त वंश का शासन रहल, भारत क "स्वर्णिम काल" कहलायल।"[४][५] दक्षिण भारत में भिन्न-भिन्न काल-खण्डन में कई राजवंश चालुक्य, चेर, चोल, पल्लव तथा पांड्य भईलेन। ईसा के आसपास संगम-साहित्य अपने चरम पर रहल, जेमें तमिळ भाषा का परिवर्धन भयल। सातवाहनन और चालुक्यन ने मध्य भारत में आपन वर्चस्व स्थापित कईलेन । विज्ञान, कला, साहित्य, गणित, खगोलशास्त्र, प्राचीन प्रौद्योगिकी, धर्म, अउर दर्शन एही राजाओं के शासनकाल में फललन-फूललन ।

१२वीं शताब्दी के शुरुआत में, भारत पर इस्लामी आक्रमणन के बाद, उत्तरी अउर केन्द्रीय भारत क अधिकांश भाग दिल्ली सल्तनत के शासनाधीन हो गईल; और बाद में, अधिकांश उपमहाद्वीप मुगल वंश के अधीन हो गईल। दक्षिण भारत में विजयनगर साम्राज्य शक्तिशाली बनल। मुगलन के संक्षिप्त अधिकार के बाद सत्रहवीं सदी में दक्षिण और मध्य भारत में मराठन का उत्कर्ष भयल। उत्तर पश्चिम में सिक्खन क शक्ति में बढ़त भईल।

१७वीं शताब्दी के मध्यकाल में पुर्तगाल, डच, फ्रांस, ब्रिटेन सहित अनेक यूरोपीय देशन, जे भारत से व्यापार करे के चाहत रहलन, देश क आतंरिक शासकीय अराजकता क फायदा उठईलन। अंग्रेज दूसरे देशों से व्यापार के चाहे वाला लोगन के रोके में सफल भईलेन और १८४० तक लगभग पूरा देश पर शासन करे में सफल भईलेन। १८५७ में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी के विरुद्ध असफल विद्रोह, जो भारतीय स्वतन्त्रता के प्रथम संग्राम से भी जानल जला, के बाद भारत क अधिकांश भाग सीधे अंग्रेजी शासन के प्रशासनिक नियंत्रण में आ गईल। [६]

कोणार्क-चक्र - १३वीं शताब्दी में बनल उड़ीसा के सूर्य मन्दिर में स्थित, ई दुनिया के सब से प्रसिद्घ ऐतिहासिक स्मारकन में से एक ह।

बीसवी सदी के प्रारम्भ में आधुनिक शिक्षा क प्रसार और विश्वपटल पर बदलती राजनीतिक परिस्थितियन के चलते भारत में एक बौद्धिक आन्दोलन क सूत्रपात भयल जे सामाजिक और राजनीतिक स्तर पर अनेक बदलाव और कई आन्दोलन क नीव रखलस। १८८५ में इन्डियन नेशनल कांग्रेस काँग्रेस पार्टी क स्थापना स्वतन्त्रता आन्दोलन के एक गतिमान स्वरूप देहलस। बीसवीं शताब्दी के शुरुआत में लम्बा समय तक स्वतंत्रता प्राप्ति के लिये बहुत बड़ा अहिंसावादी संघर्ष चलल, जेकर नेतृत्‍व महात्मा गांधी, जिनके आधिकारिक रुप से आधुनिक भारत क 'राष्ट्रपिता' के रूप में संबोधित करल जाला, कईलेन। एकरे साथ-साथ चंद्रशेखर आजाद, सरदार भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरू, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, वीर सावरकर आदि के नेतृत्‍व में चलल क्रांतिकारी संघर्ष के फलस्वरुप १५ अगस्त, १९४७ के भारत ने अंग्रेजी शासन से पूर्णतः स्वतंत्रता प्राप्त कईलस। ओकरे बाद २६ जनवरी, १९५० के भारत एक गणराज्य बनल।

भारत क पड़ोसी राष्ट्रन के साथ अनसुलझा सीमा विवाद ह। एही खातिर एके छोटा पैमाना पर युद्ध का भी सामना करे के पड़ल ह। १९६२ में चीन के साथ, अउर १९४७, १९६५, १९७१ अउर १९९९ में पाकिस्तान के साथ लड़ाई हो चुकल बा।

भारत गुटनिरपेक्ष आन्दोलन अउर संयुक्त राष्ट्र संघ के संस्थापक सदस्य देशन में से एक ह।

१९७४ में भारत आपन पहिला परमाणु परीक्षण कईले रहल जेकरे बाद १९९८ में ५ अउर परीक्षण भयल। १९९० के दशक में भयल आर्थिक सुधारीकरण क बदौलत आज देश सबसे तेज़ी से विकासशील राष्ट्रन क सूची में आ गयल बा।

भारत के प्रान्त और ओक‍र राजधानी[सम्पादन]

भारत में 28 राज्य आ 7 केन्द्रशासित प्रदेश बा।

देखीं:- भारतीय प्रान्त आ राजधानी

राज्यों के नाम निम्नवत हैं- (कोष्टक में राजधानी का नाम)
चित्र:भारत राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश.png
भारत - राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश।
केन्द्रशासित प्रदेश

† चंडीगढ़ एक केंद्रशासित प्रदेश और पंजाब और हरियाणा ई दू राज्यन क राजधानी बा।

भारत में बोलल जाने वाली भाषाएँ[सम्पादन]

भारतीय संविधान एक राष्ट्रभाषा का वर्णन ना करेला । भारत में कउनो एक राष्ट्रभाषा न ह। संविधान के अनुसार केंद्रीय सरकार में काम हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा में होला, और राज्यन में हिन्दी अथवा आपन-आपन क्षेत्रीय भाषा में काम होला। भाषाई मामले में भारतवर्ष विश्व के समृद्धतम् देशों में से एक ह। ईहाँ मुख्यतः बोलल जाने वाली भाषाओं क सूची ई बा:

राष्ट्रीय गान आउ राष्ट्रीय गीत[सम्पादन]

भारत के राष्ट्रीय गान जन- गण- मन बा । इ बंगाली में गुरुदेव रविन्द्रनाथ टैगोर द्वारा लिखल गइल बा। भारत के राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम बा। एकरा के बंकिम चंद्र चेटर्जी लिखले बानी आउ भारत के स्वतंत्रता संग्राम में ई गीत के महत्वपूर्ण भूमिका रहे| ई गीत प्रसिद्ध उपन्यास आनंदमठ से लेहल गईल बा।

प्रतिज्ञा[सम्पादन]

भारत हमारा देश है । हम सब भारत वासी हैं । हमें अपना देश प्राणों से प्यारा है। इसकी समृद्ध और विविध संस्कृति पर हमें गर्व है । हम इसके सुयोग्य अधिकारी बनने का सदा प्रयत्न करेंगे । हम अपने माता पिता शिक्षक और गुरु जनों का आदर करेंगे । और सबके साथ शिष्टता का व्यवहार करेंगे । अपने देश और देशवासियों के प्रति हम अपनी निष्ठा की प्रतिज्ञा करते हैं । उनके कल्याण और सुखसमृद्धि में ही हमारा सुख निहित है।

इहो देखीं[सम्पादन]

सन्दर्भ[सम्पादन]

  1. Introduction to the Ancient Indus Valley. Harappa (1996). Retrieved on 2007-06-18.
  2. How ancient are the Vedas. Yahoo Answers (2009). Retrieved on 2009-11-30.
  3. Jona Lendering. Maurya dynasty. Retrieved on 2007-06-17.
  4. Gupta period has been described as the Golden Age of Indian history. National Informatics Centre (NIC). Retrieved on 2007-10-03.
  5. Heitzman, James. (2007). "Gupta Dynasty," Microsoft® Encarta® Online Encyclopedia 2007
  6. History : Indian Freedom Struggle (1857-1947). National Informatics Centre (NIC). Retrieved on 2007-10-03. “And by 1856, the British conquest and its authority were firmly established.”